बिना कुंडली के जानें भविष्य, भगवान शिव ने भी इस 

विद्या से की थी अधूरी इच्छा पूरी.

एक बार एक व्यक्ति अरब के रेगिस्तान में चल रहा था, अंतत: चलते-चलते थक गया। चारों ओर बालू ही बालू दिखाई देती थी। वह गंतव्य का मार्ग भूल गया और बड़ा चिंतित हुआ। तब साक्षात शक्ति ने आकर उसके सामने चार रेखा और चार बिन्दु बना दिए। उसे एक ऐसी विधि बताई कि वह गंतव्य स्थान का मार्ग जान गया। वहीं से इस शास्त्र की उत्पत्ति हुई।
--------गणेश जी का वाहन चूहा आपके घर में मचा रहा है धमाल, मारे नहीं हो जाएं सावधान--------
Discussion
  • 1 Comment
  • Kolkata Shop - Branding Online

    Contact for Good Astrologer, Horoscope, Vastu Sastra, Lagna Kundli, Hand Reading, Match Making and more for your bright future #KolkataShop


Oops! Please login or register to add comments

Arun Pandit ji

India

₹ 200.00
  • Avoid scams by acting locally or paying with PayPal
  • Never pay with Western Union, Moneygram or other anonymous payment services
  • Don't buy or sell outside of your country. Don't accept cashier cheques from outside your country
  • This site is never involved in any transaction, and does not handle payments, shipping, guarantee transactions, provide escrow services, or offer "buyer protection"